गीत नवगीत कविता डायरी

30 April, 2013

नवगीत: पके पान झर गये

नवगीत: पके पान झर गये: -नरेन्द्र शर्मा पके पान झर गये डाल पर नये पान आये पल्लव के धर देह नेह के नए प्रान आये । लाल हो गयी डाल हो गया धरती-तल पीला सर्जन...